नारी सशक्तिकरण की मिसाल बनी हमारे जरवल रोड की बेटी पूनम सिंह उर्फ पुन्नू सिंह

नारी सशक्तिकरण की मिसाल बनी हमारे जरवल रोड की बेटी पूनम सिंह उर्फ पुन्नू सिंह

 जरवलरोड (बहराइच) जरवल रोड की नारीशक्ति पुन्नू सिंह उर्फ पूनम सिंह दरियादिली को मेरा दंडवत प्रणाम.. जो अपनी माँ समाजसेवी स्वर्गीय राधा सिंह जी के सपनों को गरीबों, वंचितों, शोषितों की मदद करने के लिए समाजसेवा के माध्यम से साकार करने में निस्वार्थ भाव से पूरा करने में जुटी हुई है। हमें गर्व है नारीशक्ति पुन्नू सिंह उर्फ पूनम सिंह पर जो हमेशा अपने आस पास की गरीब महिलाओं, बहनों और हर व्यक्ति की जिसको मदद की जरूरत होती है उसकी चुपचाप मदद करती रहती है, अभी हाल ही में कुछ समय पहले ट्रेन से गिरे एक चोटिल व्यक्ति श्री हरि जेना S/O श्री नंदकिशोर जेना जो अपने को उड़ीसा के राजनगर केंद्रपाड़ा का बता रहा था, की मदद की, तो हुआ यूँ कि पूनम रोज की तरह अपने आफिस से घर आ रही थी तो एक व्यक्ति को जरवलरोड स्टेशन पर देखा कि अर्धबेहोशी की हालत में कराह रहा है तो वो उसके पास गई और हाल चाल जानना चाहा लेकिन उस व्यक्ति को सही से हिंदी नहीं आती थी, उसकी हालत देखकर उसने उसके लिए अपने टिफिन में रखा दालफरा खाने को दिया और होटल से खाना मंगवा रखवा दिया और तय किया कि उसका वो अगले दिन इलाज करवाएगी, फिर अगले दिन ही उसके पास आकर एक दो और लोगों की मदद से अपनी स्कूटी पर किसी तरह बैठाया क्योंकि उसके दोनों पैर फ्रैक्चर थे, फिर वो कहीं गिर न जाय इस डर से उसको बिना किसी की परवाह किए अपनी कमर में अपने दुपट्टे से बांध लिया और CHC हॉस्पिटल ले गयी लेकिन वहां उसकी हालत देखकर डॉक्टर ने बेहतर इलाज के लिए उसको बहराइच जिला अस्पताल रेफर कर दिया फिर उसको वो वहां से लेकर एक व्यक्ति की मदद से बहराइच ले गयी और हॉस्पिटल में भर्ती करा दिया और फिर अपने आफिस की ओर जाने लगी कि तभी पूनम का भी एक्सीडेंट हो गया और वो फिर जिला अस्पताल न जा पाई और फिर जब वो 2 दिन बाद जिला अस्पताल पहुंची तो पता लगा कि वो व्यक्ति कहीं चला गया, वो बहुत दुःखी हुई, उसका पता लगाने का उसने बहुत प्रयास किया, सीसीटीवी आदि भी चेक करवाया लेकिन कोई सफलता नहीं मिली, इस वीडियो में दिख रहे इस व्यक्ति का बहराइच या किसी भी जिले में अगर किसी के पास कोई खबर हो तो कृपया हमें सूचित करें.. धन्यवाद!!
और मैं दिल से जरवल रोड की बेटी पूनम सिंह को सैलूट करता हूँ!! ऐसी महिला शक्ति समाज की युवा पीढ़ी के लिए एक मिशाल से कम नहीं है!

Post a Comment

0 Comments