*डीएम ने विकास भवन स्थित कार्यालयों का किया औचक निरीक्षण**अनुपस्थित मिले 05 कर्मचारी*बहराइच 24

*डीएम ने विकास भवन स्थित कार्यालयों का किया औचक निरीक्षण*
*अनुपस्थित मिले 05 कर्मचारी*

बहराइच 24 नवम्बर। शासकीय कार्यालयों में अधिकारियों एवं कर्मचारियों की समयबद्धता के साथ उपस्थिति, जन समस्याओं का निस्तारण, कार्यालयों की साफ-सफाई, अभिलेखों का रख-रखाव इत्यादि कार्यों का जायज़ा लेने के उद्देश्य से जिलाधिकारी शम्भु कुमार ने विकास भवन स्थित विभिन्न कार्यालयों तथा जल निगम कार्यालय का औचक निरीक्षण किया। विकास भवन स्थित कार्यालयों के निरीक्षण के दौरान 05 कर्मचारी अनुपस्थित पाये गये। जिलाधिकारी ने सभी अनुपस्थित कर्मचारियों का 01 दिवस का वेतन बाधित करने के साथ-साथ सभी अनुपस्थित से स्पष्टीकरण प्राप्त किये जाने का निर्देश दिया है। 
जिलाधिकारी शम्भु कुमार ने विकास भवन स्थित डी.आर.डी.ए., पिछड़ा वर्ग कल्याण, आई.सी.डी.एस., युवा कल्याण, निर्वाचन (पंचस्थानीय), दिव्यांगजन शसक्तीकरण, जिला विकास, राष्ट्रीय ग्रामीण अजीविका मिशन, पशुपालन, सहकारिता, पंचायतीराज, मनरेगा, अर्थ एवं संख्या, कृषि एवं डूडा कार्यालयों का निरीक्षण कर अधिकारियों एवं कर्मचारियों की उपस्थिति, साफ-सफाई इत्यादि का जायज़ा लिया। निरीक्षण के दौरान जिला निर्वाचन अधिकारी कार्यालय के चतुर्थ श्रेणी कार्मिक हरी लाल गौड़, दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग के कनि.सहा. बलदाऊ कृष्ण गुप्ता, विकास विभाग के उर्दू अनुवादक मो. अबुज़र, राष्ट्रीय ग्रामीण अजीविका मिशन कार्यालय के कम्प्यूटर आपरेटर सुश्री रश्मि तथा मनरेगा कार्यालय के लेखा सहायक सिराज अहमद अनुपस्थित पाये गये। 
निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी श्री कुमार ने विकास भवन स्थित विकास कार्यालयों में की गयी साज-सज्जा कार्य पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए निर्देश दिया कि सभी पटलों को आवंटित कार्य से सम्बन्धित विवरण भी प्रदर्शित किया जाय। 
जिला पंचायत राज अधिकारी के कार्यालय के निरीक्षण के दौरान समुचित साफ-सफाई तथा अलमारी इत्यादि सुव्यवस्थित ढंग से न पाये जाने पर कड़ी अप्रसन्नता व्यक्त करते हुए निर्देश दिया कि कार्यालय की समुचित साफ-सफाई के साथ अभिलेखों का रख-रखाव समुचित ढंग से किया जाय। इसी प्रकार मुख्य पशु चिकित्साधिकारी के कार्यालय में दीवार पर की गयी मरम्मत पर रंग-रोगन न पाये जाने पर निर्देश दिया गया कि दीवार की रंगाई-पुताई करा दें। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी कविता मीना, जिला विकास अधिकारी राजेश कुमार मिश्र, परियोजना निदेशक डी.आर.डी.ए. अनिल कुमार सिंह, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डाॅ. बलवन्त सिंह सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे। इसके पश्चात जिलाधिकारी ने अधि.अभि. जल निगम के कार्यालय का निरीक्षण कर अधिकारियों एवं कर्मचारियों की उपस्थिति, साफ-सफाई एवं अभिलेखों के रख-रखाव का जायज़ा लिया।
ःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःः

Post a Comment

0 Comments