हिंदी से ही हिंदुस्तान है..नवांकुर युवा सहित्य संगठन।

हिंदी से ही हिंदुस्तान है..नवांकुर युवा सहित्य संगठन।





विनय कुमार शुक्ला
बहराइच। नवांकुर युवा साहित्य संगठन के तत्वाधान में हिंदी दिवस के उपलक्ष्य में आनलाइन कवि सम्मेलन आयोजित किया गया, जिसमे अलग अलग स्थानों से कुख्यात कवियों ने अपने अपने काव्यपाठ प्रस्तुत किये,व हिंदी दिवस के अवसर पर हिंदी की उपलब्धियों के बारे चर्चा भी हुई,,कार्यक्रम की अध्यक्षता आदरणीय वृंदावन राय सरल जी ने की तथा मुख्य अतिथि के रूप में कवि भूषण त्यागी एवं विशिष्ट अतिथि के रूप में कवि विद्यासागर मिश्र जी मौजूद रहे।कार्यक्रम का संचालन श्रंगार रस के राष्ट्रीय कवि डा आशीष त्रिपाठी अश्क जी ने की।अश्क जी ने पढ़ा,इश्क में गुल खिले तो बड़ी बात है,वो बिछड़ कर मिले तो बड़ी बात है,कार्यक्रम का शुभारंभ पूर्णिमा तिवारी जी ने सरस्वती वंदना के साथ किया।तत्पश्चात रामखेलावन मिश्रा खंजन जी ने हिंदी भाषा पर अद्भुत कविता पढ़ी।आमंत्रित समस्त रचनाकारो ने बेहतरीन काव्यपाठ प्रस्तुत किया।अंत में मंच के अध्यक्ष अर्पण शुक्ल जी ने सभी को धन्यवाद दिया।

Post a Comment

0 Comments