बच्चों के अधिकारों का संरक्षण समाज के साथ साथ पुलिस की अहम जिम्मेदारी है, जिसके लिए हमें निरंतर सजग व समर्पित रहने की आवश्यकता है।" यह बात पुलिस अधीक्षक बहराइच डा० विपिन कुमार मिश्र ने पुलिस लाइन सभागार में हमारी संस्था #देहात द्वारा बाल अधिकारों से जुड़े कानूनों पर आयोजित पुलिस प्रशिक्षण में कही। डा० मिश्र ने कहा कि बच्चों से जुड़े कानूनों की जानकारी पुलिस कर्मियों के लिए बच्चों के संरक्षण की दिशा में अहम शक्ति व ऊर्जा का संचार करती

"बच्चों के अधिकारों का संरक्षण समाज के साथ साथ पुलिस की अहम जिम्मेदारी है, जिसके लिए हमें निरंतर सजग व समर्पित रहने की आवश्यकता है।" यह बात पुलिस अधीक्षक बहराइच डा० विपिन कुमार मिश्र ने पुलिस लाइन सभागार में हमारी संस्था  #देहात द्वारा बाल अधिकारों से जुड़े कानूनों पर आयोजित पुलिस प्रशिक्षण में कही। 

डा० मिश्र ने कहा कि बच्चों से जुड़े  कानूनों की जानकारी पुलिस कर्मियों के लिए बच्चों के संरक्षण की दिशा में अहम शक्ति व ऊर्जा का संचार करती है।

देहात संस्था द्वारा 23 थानों एवं पुलिस की मानव तस्करी रोधी इकाई के बाल कल्याण पुलिस अधिकारियों को रोचक तरीके से किशोर न्याय अधिनियम, बाल विवाह प्रतिषेध, बाल श्रम, पाक्सो, मानव तस्करी आदि विषयों से जुड़े कानूनों  पर सत्रो का आयोजन किया गया था।

यूनीसेफ के मंडलीय तकनीकी संदर्भ व्यक्ति अनिल कुमार ने बच्चों को न्याय दिलाने में कानूनी अड़चनों से जुड़ी शंकाओं का समाधान किया।

प्रशिक्षण के आयोजन में देहात संस्था की समन्वयक देवयानी, बाल संरक्षण हस्तक्षेप अधिकारी अस्मिता सरकार, परियोजना समन्वयक हसन फिरोज, सामुदायिक कार्यकर्ता पवन यादव आदि समेत 23 थानों के बाल कल्याण पुलिस अधिकारियों ने प्रतिभागिता की।

Post a Comment

0 Comments