बाराबंकी दरियाबाद:

बाराबंकी दरियाबाद:


आफ़ताब अहमद पत्रकार अपने सभी क्षेत्र वासियों को बड़े दुःख के साथ बताना चाहता हूँ कि मेरी भांजी 18 वर्षीय गुलज़ार फातिमा पुत्री मोहम्मद रफ़ी मास्टर
रानीकटरा बिबियापुर जिसकी स्वास्थ्य में कमी होने के कारण कई महीनों से एक निजी अस्पताल में एलाज चल रहा था। आज सुबह अचानक हालत बिगड़ने पर घर से हॉस्पिटल लेकर जा ही रहे थे कि ईश्वर अल्लाह ने अपनी ओर बुला लिया और मेरी भांजी गुलज़ार फ़ातिमा का स्वर्गवास हो गया।
यह खबर सुनते ही गाँव क्षेत्र के लोगों की आँखे गमगीन हो गई और परिजनों को ढांढस बंधाने वालों की ताता घर पर लग गया आज शाम को बाद नमाज़-ए-मगरिब कब्रिस्तान पूरब बाग बिबियापुर में नमाज़-ए-जनाजा उसके बड़े पिता हाजी तसद्दुक हुसैन अत्तारी साहब ने पढ़ाया और तमाम लोगों ने दुवाएं मगफिरत पढ़ते हुए जनाज़े को सुपुर्दे ख़ाक किया।

इस दुःख की घड़ी में हाजी मोहम्मद हुसैन, हाफिज हसीब अहमद, मौलाना अब्दुल हमीद, हनीफ़ कुरैशी प्रधान, सलमान सिद्दीकी प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य सपा, पूर्व प्रधान फखरुद्दीन आदि बड़ी ही संख्या में लोग उपस्थित रहे।