शख़्सियत में ग़रीबों का नेता इम्तियाज़ अली उर्फ़ ‘ लड्डन नेता जिसने कहा क़िस्मत से ज़्यादा वक़्त से पहले

#शख़्सियत_में_ग़रीबों_का_नेता_इम्तियाज़_अली_उर्फ़ ‘ #लड्डन_नेता_जिसने_कहा_क़िस्मत_से_ज़्यादा_वक़्त_से #पहले_कुछ……

जिनके अपने कई ऐतिहासिक कार्यों ने समाज मे अपनी अलग पहचान बनाई । #आइए_जानते_है_इम्तियाज़अली_उर्फ़_लड्डन_नेता_केबारे_में ।











बहराइच –  जनपद बहराइच में ऐसे तो कई राजनेताओं ने जन्म लिया है जिनके अपने कई ऐतिहासिक कार्यों ने समाज मे अपनी अलग पहचान बनाई । इन्हीं नेताओ में से एक है इम्तियाज़ अली उर्फ़ ‘लड्डन नेता ‘











नेता शब्द लोगों के प्यार और मोहब्बत ने दिया । हमने इनके बेटे शानू से इस बारे मे पूछा तो बताया कि यह नेता शब्द कैसे लोगों ने कहना शुरू किया तो उन्होंने बताया कि इनके पिता #इम्तियाज़_अली_युवावस्था से ही #ग़रीबों_की मदद ,






#लोगों_को_अस्पताल_इलाज_थाना #कचहरी_मे_ख़ूब_मदद_करते_रहते_थे और फिर लोगों ने उन्हें अपना नेता मान लिया और उनका नाम लड्डन नेता पड़ गया ।







पाँच बहनो और दो भाइयों में सबसे बड़े इम्तियाज़ अली उर्फ़ लड्डन नेता का जन्म सन 1956 में जनपद बहराइच के फखरपुर ब्लाक में हुआ था । पढ़ाई लिखाई जनपद बहराइच के किसान डिग्री कालेज स्नातक और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय से पढ़ाई पूरी की ।









क़रीब चालीस सालों का राजनीतिक अनुभव और साथ मे कई संस्थानो मे प्रतिष्ठित पद पर अपनी सेवाए दी । इन चालीस सालों के राजनीतिक सफ़र में इम्तियाज़ अली उर्फ़ लड्डन नेता ने कांग्रेस यूथ विंग , जनता दल , बसपा और सपा के साथ रहे । इसके अलावा तहसील स्तर से #प्रदेश_सचिव तक के पद का सफ़र तय किया।











राजनीतिक पदों के अलावा इम्तियाज़ अली उर्फ़ लड्डन नेता #डिस्ट्रिक्ट_कोआपरेटिव_बैंक व #साधन_सहकारी समिति एवं #मोहर्रम_कमेटी के प्रतिष्ठित पदों पर रहकर अपनी सेवाएं दी हैं।

इम्तियाज़ अली अपनी सक्रिय राजनीति का उदाहरण देते हुए बताते है कि वर्तमान मे #केरल_के_राज्यपाल_आरिफ़_मोहम्मद_खान_जब #ऊर्जा_मंत्री हुआ करते थे उस समय जनपद की बीस लोगों की लिस्ट में उनका भी नाम था ।

उनके साथी मित्र बताते हैं कि इम्तियाज़ अली के अंदर लोगों को समझाने और बिगड़े हुए मामलों को सुलझाने की क़ाबिलियत है उन्होंने कई सामुदायिक मामलों को शांतिपूर्वक तरीक़े से सुलझाया । हज़ारों लाखों की संख्या में उनके पास जनाधार है । उनके क़रीबी मित्रों में #पूर्व_विधायक_रामतेज_यादव का नाम आता है वह भी बहराइच से ताल्लुक़ रखते हैं ।

इनके परिवार के बारे में बात करें तो इनके 9 बेटे हैं और सभी आज के समय कामयाब हैं । सभी को इन्होंने अच्छी तालीम दी है ।सभी बेटों को इन्होंने स्नातक और उच्च शिक्षा तक भेजा है ।

क़रीब तीन दशक से भी ज़्यादा समय से जनता दरबार लगता आ रहा है जिसमें हर ग़रीब मजलूमो की हर सम्भव मदद की जाती है ।

मैं इनके बारे में एक रोचक बात और बताना चाहूँगा कि इनके द्वारा फखरपुर क्षेत्र के एवं दूर-दराज के सभी वर्ग के लोगों के ‌वाहन खड़े करने एवं रात में भोजन व बिस्तर की निःशुल्क व निरंतर सेवा हो रही है।लगभग बीस वर्षों से #समाजवादी_पार्टी से जुड़कर आज भी समाज सेवा कर रहे हैं।

इम्तियाज़ अली उर्फ़ लड्डन नेता #द्वारा_एक_ट्रस्ट_चलाया_जा_रहा_है जो उनके पिता जी स्व. इश्तियाक़ साहब (मरहूम) एंड संस के नाम से है । #इस_ट्रस्ट_के_द्वारा_ग़रीब_बेसहारा_हिंदू_मुस्लिम_कफ़न #दफ़न_एवं_दाह_संस्कार_की_निशुल्क_व्यवस्था_कराई #जाती है जो कि एक सराहनीय कार्य है और समाज एक लिए एक मिसाल है ।

इम्तियाज़ अली उर्फ़ लड्डन नेता ने अपनी ज़िन्दगी में कई उतार चढ़ाव देखे । वह हार्ट की समस्या से परेशान रहे और फिर उनकी बाइपास सर्जरी भी हुई ।

आज के समय में इम्तियाज़ अली उर्फ़ लड्डन नेता बतौर समाजसेवी ग़रीबों मजलूमो की हर संभव मदद में लगे रहते हैं और यही सेवा भाव ही उनकी पहचान है ।

आज की राजनीति के बारे में बताते हैं कि जब से राजनीति में शराब , शबाब , कबाब पर निर्भर हो गई जो कि राजनीति में ग़लत लोगों के आने से हुआ है । जब तक राजनीति में सेवा भाव नहीं होगा तब तक राजनीति मे स्वच्छ वातावरण तैयार नहीं होगा ।