फखरपुर के लटकानीया बाबा के आस्ताने से

अस्सलाम वालेकुम रहमतुल्लाह बराकात आप देख रहे हैं और यह  प्रोग्राम फखरपुर की आवाज यूट्यूब चैनल के माध्यम से
 मैं मैं इस वक्त मौजूद हूं फखरपुर के मोहाई वाली रोड पर लटकनया बाबा के आस्ताने पर मैं मिलाता हूं यहां
 के खादिम रहमत अली  से बात करते हैं जब फ़खरपुर की आवाज ने रहमत अली से बात की तो रहमत अली ने बताया कि हर हफ्ते जो पैसा बॉक्स में आता है वह सारा पैसा वाजिद अली को दे दिया जाता है
 सिर्फ वाजिद अली ने  सिर्फ लाइट लगवाया है मैं चाहता हूं कि मेंबर आन इसकी देखरेख करें और इस मजार की तामीर कराएं।
फखरपुर की आवाज़।