महाराजा सुहेलदेव प्रतिमा स्थल का मंत्री अनिल राजभर ने किया निरीक्षण

महाराजा सुहेलदेव प्रतिमा स्थल का मंत्री अनिल राजभर ने किया निरीक्षण







बहराइच 23 अगस्त। मा. मंत्री, पिछड़ा वर्ग कल्याण एवं दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग उत्तर प्रदेश श्री अनिल राजभर ने महानिदेशक पर्यटन उत्तर प्रदेश रवि कुमार एन.जी. व अन्य विभागीय अधिकारियों के साथ चित्तौरा स्थित महाराजा सुहेलदेव जी की प्रतिमा के दर्शनोपरान्त चित्तौरा झील के निकट महाराजा सुहेलदेव से सम्बन्धित स्थलों का निरीक्षण कर इस स्थान को पयर्टन के मानचित्र पर विकसित किये जाने के उद्देश्य से मौजूद अधिकारियों व गणमान्यजनों से आवश्यक विचार-विमर्श भी किया।
इस अवसर पर श्री राजभर ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा इस धरती को पर्यटन के क्षेत्र में पहचान दिलाये जाने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने कहा कि इस धरती के विकास के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ काफी गम्भीर हैं। इस स्थान को पयर्टन के मानचित्र पर विकसित करने के लिए सरकार द्वारा महत्वाकांक्षी योजना तैयार की जा रही है। जिसके उद्देश्य से उनके द्वारा पर्यटन विभाग के अधिकारियों के साथ स्थलीय निरीक्षण किया गया है। उन्होंने कहा कि यहाॅ विकास हो जाने से अनेकों युवाओं को रोज़गार मुहैय्या होगा वहीं पर्यटकों के आगमन से जनपद का भी आर्थिक विकास होगा।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी कविता मीना, अपर जिलाधिकारी जयचन्द्र पाण्डेय, उप जिलाधिकारी कैसरगंज महेश कुमार कैथल, ज्वाईन्ट मजिस्ट्रेट प्रशिक्षु आई.ए.एस. सौरभ गंगवार, पुलिस क्षेत्राधिकारी नगर टी.एन. दुबे व कैसरगंज के अरूण चन्द्र, तहसीलदार सदर राज कुमार बैथा, दिव्यांगजन सशक्तीकरण अधिकारी ए.के. गौतम सहित अन्य अधिकारी, राजा यशवेन्द्र विक्रम सिंह व अन्य गणमान्यजन मौजूद रहे। इसके उपरान्त मा. मंत्री के निरीक्षण भवन पहुॅचने पर पुलिस अधीक्षक डाॅ. विपिन कुमार मिश्र, विधायक बलहा श्रीमती सरोज सोनकर सहित अन्य अधिकारियों व गणमान्यजनों ने श्री राजभर से भेंट की।
                       :ःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःः
*राज्य सफाई कर्मचारी आयोग के सदस्य का आगमन 24 अगस्त को*
बहराइच 23 अगस्त। राज्य सफाई कर्मचारी आयोग, उत्तर प्रदेश के सदस्य श्री श्याम लाल बाल्मीकि प्रस्तावित जनपद भ्रमण कार्यक्रम के अनुसार 24 अगस्त 2020 को अपरान्ह 03ः00 गायघाट पहुॅचकर बाल्मीकि समाज के लोगों की समस्याओं को सुनने के पश्चात निरीक्षण भवन नानपारा पहुॅचकर अपरान्ह 04ः00 बजे सफाई कर्मचारियों की समस्याओं की सुनवाई के उपरान्त अपरान्ह 04ः15 बजे उप जिलाधिकारी, पुलिस क्षेत्राधिकारी व अधि.अधि. नगर पालिका परिषद नानपारा के साथ बैठक करेंगे। इसके उपरान्त श्री बाल्मीकि सम्बन्धित अधिकारियों के साथ साॅय 06ः00 बजे नानपारा में सफाई कर्मचारियों की बस्तियों का निरीक्षण करेंगे।
श्री बाल्मीकि साॅय 07ः00 बजे लो.नि.वि. निरीक्षण भवन बहराइच पहुॅचकर सफाई कर्मचारियों के प्रतिनिधियों से वार्ता के पश्चात जिला पंचायत राज अधिकारी, अधि.अधि. नगर पालिका परिषद बहराइच के साथ बैठक कर रात्रि विश्राम निरीक्षण भवन बहराइच में करेंगे। श्री बाल्मीकि 25 अगस्त 2020 को प्रातः 09ः00 नगर पंचायत भिनगा (श्रावस्ती) के लिए प्रस्थान कर जायेंगे। यह जानकारी प्रभारी अधिकारी वी.आई.पी./नगर मजिस्ट्रेट ने दी है।
                          :ःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःः
*जनपद में पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है गुणवत्तायुक्त उर्वरक: जिला कृषि अधिकारी*
बहराइच 23 अगस्त। जिला कृषि अधिकारी सतीश कुमार पाण्डेय ने बताया कि खरीफ 2020 हेतु जनपद में पर्याप्त मात्रा में गुणवत्तायुक्त उर्वरकों की उपलब्धता करायी जा रही है। खरीफ 2020 हेतु जनपद में उर्वरक यूरिया 54658 मै.टन, डी.ए.पी. 12753 मै.टन, एन.पी.के. 3320 मै.टन, एम.ओ.पी. 1391 मै.टन व एस.एस.पी. 3000 मै.टन का लक्ष्य निर्धारित है। जिसके सापेक्ष उर्वरक यूरिया 5374. मै.टन, डी.ए.पी. 14045 मै.टन, एन.पी.के. 1630 मै.टन, एम.ओ.पी. 835 मै.टन व एस.एस.पी. 14220 मै.टन उर्वरक जनपद में उपलब्ध है। इसके अलावा जनपद में लगातार उर्वरक प्राप्त हो रही है।
जिला कृषि अधिकारी श्री पाण्डेय ने बताया कि 21 अगस्त 2020 को 700 मै.टन यूरिया 49 साधन सहकारी समितियों तथा 22 अगस्त 2020 को 850 मै.टन यूरिया 43 साधन सहकारी समितियों पर इफको द्वारा भेजी गयी है। श्री पाण्डेय ने यह भी बताया कि इसके अतिरिक्त चाॅद छाप 200 मै.टन यूरिया निजी उर्वरक विक्रेताओं के यहाॅ पहुॅच चुकी है।
श्री पाण्डेय ने जनपद के कृषकों को सुझाव दिया है कि उर्वरक क्रय करते समय अपना आधार कार्ड अपने साथ अवश्य ले जायें तथा पी.ओ.एस. मशीन की मार्फत ही उर्वरक क्रय करें। उन्होंने बताया कि जनपद के सभी उर्वरक विक्रेताओं को निर्देशित किया गया है कि कृषकों का आधार कार्ड के आधार पर कृषक की खतौनी का अवलोकन कर ही उर्वरक की बिक्री करें। श्री पाण्डेय ने किसानों को उचित मात्रा में ही उर्वरक का प्रयोग करने की सलाह देते हुए सचेत किया है कि अधिक मात्रा में उर्वरकों का प्रयोग करने से फसलों में कीट व रोग लगने की आशंका रहती है।
जिला कृषि अधिकारी ने बताया कि जनपद के कृषकों को निर्धारित मूल्य पर सुगमतापूर्वक उर्वरकों की उपलब्धता सुनिश्चित कराये जाने हेतु लगातार छापेमारी की कार्यवाही सक्षम अधिकारियों द्वारा की जा रही है। श्री पाण्डेय ने सचेत किया कि यदि कोई भी उर्वरक विक्रेता यूरिया उर्वरक की ओवर रेटिंग करते हुए पाया जायेगा तो सम्बन्धित के विरूद्ध प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज करा दी जायेगी। उन्होंने बताया कि यदि किसी कृषक को उर्वरक क्रय करने में कोई समस्या आती है तो वह जिला कृषि अधिकारी के संज्ञान में अवश्य लायें ताकि समस्या का समाधान कराया जा सके।
                        :ःःःःःःःःःःःःःःःःःःःः
*बाढ़ बुलेटिन*
बहराइच 23 अगस्त। जनपद बहराइच की सरयू नदी (घाघरा नदी) में आयी बाढ़ के परिणामस्वरूप जनपद की प्रभावित हुई तहसीलें, ग्राम एवं बाढ़ प्रभावितों के सहायतार्थ किये गये/किये जा रहे खोज, बचाव एवं राहत कार्यों का विवरण देते हुए अपर जिलाधिकारी ने बताया कि जनपद में वर्षा की क्रमिक स्थिति 01 जून 2020 से 23 अगस्त 2020 तक 696.65 मि.मी. दर्ज की गयी है।
जनपद की नदियों एवं बैराजों पर 23 अगस्त 2020 को प्रातः 08ः00 बजे तक जलस्तर का विवरण देते हुए अपर जिलाधिकारी ने बताया कि सरयू नदी का एल्गिन ब्रिज पर जलस्तर खतरे के निशान 106.07 मी. के सापेक्ष 106.556 मी., घूरदेवी पर जलस्तर 112.135 मी. के सापेक्ष 112.100 मी., गिरजापुरी बैराज पर जलस्तर खतरे के निशान 136.80 मी. के सापेक्ष 135.35 मी., गोपिया बैराज पर जलस्तर खतरे के निशान 133.50 मी. के सापेक्ष 130.90 मी. तथा शारदा बैराज पर जलस्तर खतरे के निशान 135.49 मी. के सापेक्ष 135.20 मी. दर्ज किया गया है।
जनपद के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में बाढ़ से प्रभावितों हेतु किये गये/किये जा रहे राहत एवं बचाव कार्यों का आज तक का विवरण देते हुए अपर जिलाधिकारी ने बताया कि अब तक जनपद की 04 तहसीलों के 82 ग्राम बाढ़ से प्रभावित हैं। जबकि मैरूण्ड ग्राम 07 हैं। बाढ़ से प्रभावित जनसंख्या 198893, पशु 39353 एवं प्रभावित क्षेत्रफल 21808.10 हे. है। बाढ़/कटान से अब तक क्षतिग्रस्त मकानों/झोपड़ी की संख्या 301, बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में स्थापित बाढ़ चैकियों की संख्या 27, प्रभावित क्षेत्र में 01 बाढ़ शरणालय संचालित है जिसमें 09 लोग रह रहे हैं।
अपर जिलाधिकारी ने बताया कि खोज एवं बचाव कार्य में 228 नावें व 03 मोटर बोट लगायी गयीं हैं। जबकि खोज एवं बचाव कार्य के लिए बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में 01 प्लाटून पी.ए.सी. व 01 टीम एन.डी.आर.एफ. की तैनात है। प्रभावित क्षेत्रों में लोगों को त्वरित उपचार की सुविधा प्रदान करने के लिए 48 मेडिकल टीमें गठित की गयी हैं। अब तक 5101 लोगों को चिकित्सकीय सुविधा प्रदान की गयी है।
बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में 1544 पशुओं का उपचार तथा 90240 पशुओं का टीकाकरण किया गया है। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में अब तक 207.20 कुण्टल भूसा का वितरण किया गया है। जबकि पीड़ितों को बारिश के पानी से बचाव के लिए 6415 अदद तारपोलीन शीट का वितरण किया गया है। इसके अलावा 23885 बाढ़ प्रभावितों को खाद्यान्न राहत सामग्री किट तथा 25465 ज़रूरतमन्द लोगों को लंच पैकेट का वितरण किया गया है।
अपर जिलाधिकारी ने बताया कि वितरित की जा रही खाद्य सामग्री किट में 10 कि.ग्रा. आटा, 10 कि.ग्रा. चावल, 10 कि.ग्रा. आलू, 05 कि.ग्रा. लाई, 02 कि.ग्रा. भूना चना, 02 कि.ग्रा. अरहर की दाल, 500 ग्राम नमक, 250 ग्राम हल्दी, 250 ग्राम मिर्च, 250 ग्राम धनियां, 01 पैकेट मोमबत्ती, 01 पैकेट माचिस, 10 पैकेट बिस्कुट, 01 लीटर रिफाइण्ड तेल, 01 पैकेट क्लोरीन टैबलेट एवं 02 अदद नहाने का साबुन रखा गया है।
जिलाधिकारी द्वारा बाढ, राहत एवं बचाव से सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये गये हैं कि बाढ़ राहत कार्यों में किसी प्रकार की शिथिलता एवं उदासीनता न बरती जाये। सभी सम्बन्धित अधिकारियों द्वारा बाढ़़ प्रभावित क्षेत्रों का नियमित भ्रमण कर बाढ़ प्रभावित लोगों को शासन द्वारा अनुमन्य सभी सुविधाएं मुहैय्या करायी जायें। जिलाधिकारी द्वारा सभी सम्बन्धित अधिकारियों को यह भी निर्देश दिया गया है कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के भ्रमण के दौरान आमजनमानस को कोविड-19 के संक्रमण से बचाव हेतु सोशल डिस्टेंसिंग के अनुपालन के साथ-साथ मास्क के उपयोग के बारे में जानकारी प्रदान करें साथ ही राहत एवं सामग्री वितरण के कार्यों में सोशल डिस्टेन्सिंग का भी कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित किया जाय।
जिलाधिकारी ने बताया कि बाढ़ सम्बंधी समस्याओं के निराकरण तथा बाढ़ सम्बंधी सूचना/शिकायत दर्ज कराये जाने के उद्देश्य से राउण्ड-द-क्लाक संचालित बाढ़ कन्ट्रोल रूम का दूरभाष नं 05252-230132 तथा ट्रोल फ्री नं 1077 है।

            :ःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःःः