वित्तविहीन शिक्षक पंहुचे भुखमरी के कगार पर सरकार दे 15हजार रुपये प्रति माह आर्थिक सहायता -अजय सिंह

बलरामपुर /शुक्रवार 21 अगस्त को जनपद के वित्तविहीन शिक्षकों ने डीआईओएस कार्यालय बलरामपुर मे सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुये वित्तविहीन स्कूलों के शिक्षकों के आर्थिक संकट के सहायता और समस्या निस्तारण को लेकर एक दिवसीय धरना प्रदर्शन कर प्रधानमंत्री भारत सरकार को संबोधित एक विज्ञप्ति  शिक्षा अधिकारी को सौंपा । 
    शुक्रवार को बलरामपुर के माध्यमिक शिक्षा कार्यालय में 10  से 2 बजे तक जिले के वित्तविहीन स्कूलों मे  कार्यरत शिक्षकों ने अपनी समस्या और लाकडाउन से खड़ी हुई   विकराल जटिलताओं से निजात के लिए पीएम से दखल देते हुये मदद की गुहार लगाई हैै । कार्यक्रम की अगुआई कर रहे वित्तविहीन शिक्षक महासभा के प्रदेश महामंत्री अजय सिंह ने कार्यालय पर शिक्षकों को संबोधित किया । 
अजय सिंह ने अपने संबोधन मे कहा कि इस भीषण महामारी के दौर मे प्राइवेट स्कूलों मे शिक्षण कार्य कर रहे शिक्षक और कर्मी बेहद कठिन दौर से गुजर रहे हैं । शिक्षक किस तरह से जीवन यापन कर रहे हैं इसे समझने के लिए  मानवता का चाहिए । पूरे प्रदेश मे शिक्षा देने के अभियान मे लगभग 80%जिम्मेदारी जिन वित्त विहीन शिक्षकों के कंधों पर हैै दुर्भाग्य यह हैै की वो भुखमरी के कगार पर हैं ना तो इन्हें कोई सरकारी इमदाद मिल रही हैै ना ही लाकडाउन के कारण विगत मार्च से स्कूलों से वेतन ही मिल रहा हैै । वेतन से परिवार पालने वालों का बिना किसी आय के जीवन यापन करना कितना कठिन हैै इसका वर्णन करना बेहद कष्टप्रद हैै ।  मै केंद्र और और प्रदेश की सरकार से यह माँग करता हूँ कि वित्तविहीन शिक्षकों को तत्काल आर्थिक सहायता प्रदान किया जाए । 
शिक्षकों को कमसे कम पन्द्रह हजार रुपये प्रति माह मानदेय दिया जाए ।
महासभा के मण्डल अध्यक्ष  दिनेश मिश्रा   ने कहा कि अपने हक के लिए हम सभी आवाज उठाते रहे हैं लेकिन दुर्भाग्य हैै कि जिम्मेदार हमारी समस्याओं को गम्भीरता से नही लेते । वहीं प्रदेश संगठन मन्त्री सत्यव्रत सिंह ने कहा कि ये बेहद चिंताजनक हैै कि जिम्मेदार लोगों को सबकी पीड़ा तो  दिखाई दे रही हैै लेकिन वित्त विहिनो से ही परेशानी हैै । जिलाध्यक्ष आर बी  सिंह ने सरकार से तत्काल माँग पूरी किए जाने की बात कही हैै शिक्षक भुखमरी के कगार पर हैै लगभग पांच माह से वेतन नही मिल रहा हैै हम अपना परिवार कैसे चला रहे हैं इसका अंदाजा लगाना बहुत कठिन हैै  । इस दौरान जिला उपाध्यक्ष डालमणि पाठक , महामंत्री जय चन्द शुक्ला , रमेश चन्द्र त्रिपाठी , मुन्नु तिवारी   सहित अन्य शिक्षक और कर्मी  मौजूद रहे । 
शिक्षकों ने प्रदेश सरकार पर मौन धरना प्रदर्शन कर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी,  मुख्यमंत्री व शिक्षा मन्त्री उत्तर प्रदेश  सरकार को डीआईओएस  बलरामपुर  के माध्यम से ज्ञापन  प्रदेश महामंत्री अजय सिंह  की अध्यक्षता में सौंपा । साथ ही वित्तविहीन शिक्षकों के  कल्याण हेतु लोगो ने अपनी समस्याओं को भी साझा किया ।