#बहराईच#

बहराइच-  सैय्यद सालार मसूद गाज़ी की दरगाह पर हर वर्ष होने वाले जेठ मेले का आगाज हो चुका है। इस विश्व प्रसिद्ध मेले में भारत के साथ ही नेपाल और अन्य देशो से भी जायरीन जियारत करने आतें हैं। इस मेले की खास बात ये है कि यहां हर धर्म के लोग अपनी मन्नतों को लेकर इस दरगाह पर आतें हैं, लेकिन हर वर्ष करोड़ो रूपये का चंदा दर्शनार्थियों से वसूल करने वाली दरगाह प्रबंध समिति मेले में फैली अव्यवस्था और गंदगी पर रोक लगाने में पूरी तरह नाकाम है। बहराइच में होने वाले सैय्यद सालार मसूद गाज़ी की दरगाह पर हर वर्ष लगने वाले मेले में हिन्दू ,मुसलमान,सिख,इसाई सभी सम्प्रदाय के लोग पूरी श्रद्धा से आते है। ये मेला एक महीने तक चलता है।


इस मेले में एक महीने तक रोज लाखों लोगों का जमावड़ा होता है, वैसे तो इस मेले की प्रबंध समिति दुकानदारों और जायरीनों से करोड़ो रूपये की आमदनी करता है लेकिन व्यवस्था के नाम पर केवल खानापूर्ति ही धरातल पर दिखाई देती है। जायरीनों द्वारा चढ़ावे और अन्य मदो से आने वाली रकम करोड़ो में होती है। जिसे दरगाह प्रबंध समिति को मेलार्थियों की सुविधाओं और व्यवस्थाओं के ऊपर खर्च करना होता है लेकिन सूत्रों की माने तो इस रकम का बड़ा हिस्सा बिचौलियों की भेंट चढ़ जाता है। जब ग्राम्य संदेश की टीम ने मेले में व्यवस्थाओं का जायजा लिया तो सारी पोल खुल कर सामने आई।  मेले में न तो मेलार्थियों के लिए पीने के पानी की उचित व्यवस्था है और न ही पर्याप्त मात्रा में शौचालय है, जिसकी वजह से मेले में आये जायरीन खुले में शौच करने को मजबूर हैं। मेला परिसर में बुरी तरह से गंदगी व्याप्त है।  जगह- जगह कूड़े के ढेर और जलभराव आपको आसानी से देखने को मिल जाएगा,जबकि इन सारी चीजों के लिए प्रबंध समिति द्वारा काफी बड़ी रकम इन मदों के लिए खर्च में दिखाई जाती हैं लेकिन धरातल पर व्यवस्थाएं ज्यों की त्यों हैं।


भीषण गर्मी के मौसम में मेले में जगह- जगह गंदगी के अंबार के चलते संक्रामक बीमारियों का खतरा बढ़ गया है। मेला प्रशासन और जिला प्रशासन इसकी सुध नही ले रहा है। मेले में खुले मांस काट कर बेचा जा रहा है और वह भी बिना किसी परमिशन के जिन पर मक्खियां भिनभिना रही है, जो जानलेवा बीमारियों को दावत दे रहीं है।  जिसे प्रशासन देखकर भी अनदेखा कर रहा है। वैसे तो प्रशासन ने बिना परमिट के मांस बिक्री पर रोक लगा रखी है लेकिन यहां लोगो की जिंदगी से खुलेआम खिलवाड़ किया जा रहा है। मेला प्रबंध समिति के द्वारा उचित व्यवस्थाएं न दे पाने के कारण मेलार्थियों में काफी रोष है। मेलार्थियों की माने तो इनसे मनमाना किराया वसूला जा रहा है। बाहर से आये दुकानदारों से भी मनमाने तरीके से पैसे की वसूली समिति द्वारा की जा रही है। इस पर जब दरगाह शरीफ प्रबंध कमेटी के अध्यक्ष समशाद अहमद से बात की गई तो उन्होंने सारी व्यवस्थाएं चौकस होने की बात कहकर अपना पल्ला झाड़ लिया।


Post a Comment

0 Comments