बहराइच। फखरपुर कड़ाके की ठंड में खुले आसमान के नीचे जीवन यापन करने पर मजबूर सैकड़ों गरीब

बहराइच। फखरपुर कड़ाके की ठंड में खुले आसमान के नीचे जीवन यापन करने पर मजबूर सैकड़ों गरीब परिवार


बहराइच : जंहा प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ गरीब असहाय लोगों को लेकर बेहद चिंतित रहते है और उनके लिए हर सम्भव मदद का प्रयास करते हैं वहीं उत्तर प्रदेश जनपद बहराइच के ब्लाक फखरपुर में गरीबों को नहीं मिलती किसी भी प्रकार की आर्थिक सहायता। यह मामला है फखरपुर ब्लॉक के ग्राम खालिदपुर का जहां पर अधिकारी व ग्राम प्रतिनिधि को गरीबों की आवाज सुनाई नहीं देती सैकड़ों पीड़ित परिवार महिला बूढ़े और बच्चे खुले आसमान के नीचे जीवन यापन करने पर मजबूर इस ठंड के मौसम में ना सर पर छत और ना ही बिछाने के लिए बिस्तर दो वक्त की रोटी के लिए मजदूरी करने वाले लोग कई बार अपना दुखड़ा उच्च अधिकारी व ग्राम प्रधान से रो रो कर बताया पर सभी लोग हर बार दिलासा देकर भूल जाते हैं यह गरीब बेसहारा दिल में दर्द और आंखों में आंसू लेकर दर-दर भटकते नजर आ रहे हैं फखरपुर ब्लाक के ग्राम खालिदपुर में वासियों का आरोप है कि जब वह अपनी शिकायत ग्राम प्रधान से करते हैं तो सैकड़ों लोगों से 1000 या 500 रुपये वसूली करके कहते हैं आपका काम हो जाएगा हर बार झूठा आश्वासन देकर चले जाते हैं जब ग्राम खालीदपुर में हमारे रिपोर्टर जायजा लेने पहुंचे तो और चौंकाने वाली खबरों का पता चला शकीला पत्नी खुशबूउद्दीन ने बताया उनका पति मजदूरी कर अपने परिवार के लिए दो वक्त की रोटी के लिए पैसा कमाने मिलो दूर जाता है 8 सदस्य का परिवार जिसमें दो लड़कियों की शादी भी करनी है त्रिपाल के रूप में छत के नीचे जीवन यापन कर रहे इस गरीब परिवार ने अपनी समस्या जिला अधिकारी को भी पहुंचाई थी पर अभी तक कोई सरकारी सहायता प्राप्त नहीं हुई इसी ग्राम खालिदपुर के निवासी स्वर्गीय अमृति लाल पत्नी श्यामा देवी का परिवार भी सरकारी सहायता ना मिलने से टूटी फूटी झोपड़ी में जीवन यापन करने पर मजबूर है श्यामा देवी ने आरोप लगाते हुए कहा कि फखरपुर ब्लॉक वीडियो व सेक्रेट्री सहित ग्राम प्रधान कई सालों से झूठा आश्वासन दे रहे हैं उन्होंने बताया उनके पांच बेटो की शादी कर बहू वह बच्चे त्रिपाल के नीचे जीवन यापन करने पर मजबूर है जब यह गरीब परिवार अपनी शिकायत किसी से करता है तो उसे डराया और धमकाया जाता है गरीब परिवार ने जिला प्रशासन से अपील करते हुए कहा कि उनके ग्राम सभा का निरीक्षण कर जायजा ले ताकि अधिकारियों को भी पता चले कि सैकड़ों लोग किस तरह से जीवन गुजार रहे है
रिपोटर इम्तिया अहमद

Post a Comment

0 Comments